HomeBarabankiNo Need To Show Receipt While Selling Paddy - धान बेचने में...

No Need To Show Receipt While Selling Paddy – धान बेचने में रसीद दिखाने की जरूरत नहीं


ख़बर सुनें

सिरौलीगौसपुर (बाराबंकी)। खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन में ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। साथ ही अधिकारियों को समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिए। बताया कि धान बेचने में बीज की रसीद दिखाने की जरूरत नहीं है। इसका आदेश जल्द ही जारी कर दिया जाएगा।
राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा को महमूदाबाद गांव के राकेश कुमार, सिराज अहमद के साथ आए करीब आधा दर्जन ग्रामीणों ने बताया कि गांव के अंदर बंजर की दो बीघा भूमि पर गांव के ही एजाज रसूल ने बैरिकेडिंग कर उस पर कब्जा कर लिया है। बदोसराय की शिवदेवी ने बताया कि जनता इंटर कॉलेज में रसोइया का काम करती थी।
एक महीने से वहां के प्रधानाचार्य ने उन्हें हटा दिया है। परसा के मैकूलाल ने बताया कि उन्होंने बिजली बिल का भुगतान कर दिया है। फिर भी गलत तरीके से 16 हजार रुपये बिल मीटर रीडर द्वारा फिर लगा दिया है।
राज्यमंत्री ने बताया कि धान की तौल में किसानों को हो रही समस्या के चलते हाइब्रिड धान पर विपणन अधिकारी द्वारा रसीद मांगी जाती थी, जिसे समाप्त कर दिया गया है, शीघ्र ही इसका आदेश आ जाएगा। इस मौके पर एडीएम राकेश कुमार सिंह, एसडीएम प्रिया सिंह, तहसीलदार सुरेंद्र कुमार, जितेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।

सिरौलीगौसपुर (बाराबंकी)। खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन में ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। साथ ही अधिकारियों को समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिए। बताया कि धान बेचने में बीज की रसीद दिखाने की जरूरत नहीं है। इसका आदेश जल्द ही जारी कर दिया जाएगा।

राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा को महमूदाबाद गांव के राकेश कुमार, सिराज अहमद के साथ आए करीब आधा दर्जन ग्रामीणों ने बताया कि गांव के अंदर बंजर की दो बीघा भूमि पर गांव के ही एजाज रसूल ने बैरिकेडिंग कर उस पर कब्जा कर लिया है। बदोसराय की शिवदेवी ने बताया कि जनता इंटर कॉलेज में रसोइया का काम करती थी।

एक महीने से वहां के प्रधानाचार्य ने उन्हें हटा दिया है। परसा के मैकूलाल ने बताया कि उन्होंने बिजली बिल का भुगतान कर दिया है। फिर भी गलत तरीके से 16 हजार रुपये बिल मीटर रीडर द्वारा फिर लगा दिया है।

राज्यमंत्री ने बताया कि धान की तौल में किसानों को हो रही समस्या के चलते हाइब्रिड धान पर विपणन अधिकारी द्वारा रसीद मांगी जाती थी, जिसे समाप्त कर दिया गया है, शीघ्र ही इसका आदेश आ जाएगा। इस मौके पर एडीएम राकेश कुमार सिंह, एसडीएम प्रिया सिंह, तहसीलदार सुरेंद्र कुमार, जितेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।





Source link

Advertisement
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

POPULAR POST

- Advertisment -