HomeBreaking NewsThe Drowned Student Is Not Known Even On The Second Day -...

The Drowned Student Is Not Known Even On The Second Day – डूबे छात्र का दूसरे दिन भी पता नहीं



मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के बंदी घाट गांव के पास तमसा नदी में नांव पलटने के बाद डूबे छात
– फोटो : MAU

ख़बर सुनें

वलीदपुर। मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के बंदीघाट के पास तमसा नदी में नाव हादसे में डूबे छात्र मिजान अहमद का दूसरे दिन मंगलवार को भी पता नहीं चल सका। उधर डूबे छात्र की तलाश को लेकर वाराणसी से एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर पहुंचकर जांच में जुटी है। सोमवार की पूरी रात परिजन तथा ग्रामीण नदी के आसपास मौजूद रहे। मालूम हो कि सोमवार की शाम बंदी घाट के पास तमसा नदी में 16 छात्रों से भरी नाव पलट गई थी। जिसमें ग्रामीणों ने किसी तरह 15 छात्रों को तो बचा लिया था लेकिन बांदी घाट निवासी एक छात्र मिजान अहमद का पता नहीं चला। सोमवार की पूरी रात ग्रामीण छात्र की तलाश में जुटे रहे। उधर, मंगलवार को वाराणसी से 17 सदस्यीय एनडीआरएफ टीम इंचार्ज अमरजीत सिंह के नेतृत्व में बंदीघाट पहुंची। टीम ने बंदीघाट से मीरपुर तक करीब एक किमी तक डूबे छात्र की तलाश की। नाव हादसे में सवार छात्रों की साइकिल भी नहीं मिल सकी है। वहीं घटना को लेकर लोग तरह-तरह के चर्चा करते रहे। वहीं, घटनास्थल पर दूसरे दिन नवागत एसडीएम मुहम्मदाबाद गोहना अखिलेश सिंह यादव, सीओ नरेश कुमार, एसओ शैलेष सिंह भी देर शाम तक मौजूद रहे। उधर, नाव हादसे में नदी में डूबे छात्र मिजान अहमद के न मिलने पर मंगलवार को एएचएनबी स्कूल बंद कर दिया गया। इससे पूर्व स्कूल में बैठक हुई और चर्चा के बाद उसे बंद कर दिया गया।

वलीदपुर। मुहम्मदाबाद गोहना कोतवाली क्षेत्र के बंदीघाट के पास तमसा नदी में नाव हादसे में डूबे छात्र मिजान अहमद का दूसरे दिन मंगलवार को भी पता नहीं चल सका। उधर डूबे छात्र की तलाश को लेकर वाराणसी से एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर पहुंचकर जांच में जुटी है। सोमवार की पूरी रात परिजन तथा ग्रामीण नदी के आसपास मौजूद रहे। मालूम हो कि सोमवार की शाम बंदी घाट के पास तमसा नदी में 16 छात्रों से भरी नाव पलट गई थी। जिसमें ग्रामीणों ने किसी तरह 15 छात्रों को तो बचा लिया था लेकिन बांदी घाट निवासी एक छात्र मिजान अहमद का पता नहीं चला। सोमवार की पूरी रात ग्रामीण छात्र की तलाश में जुटे रहे। उधर, मंगलवार को वाराणसी से 17 सदस्यीय एनडीआरएफ टीम इंचार्ज अमरजीत सिंह के नेतृत्व में बंदीघाट पहुंची। टीम ने बंदीघाट से मीरपुर तक करीब एक किमी तक डूबे छात्र की तलाश की। नाव हादसे में सवार छात्रों की साइकिल भी नहीं मिल सकी है। वहीं घटना को लेकर लोग तरह-तरह के चर्चा करते रहे। वहीं, घटनास्थल पर दूसरे दिन नवागत एसडीएम मुहम्मदाबाद गोहना अखिलेश सिंह यादव, सीओ नरेश कुमार, एसओ शैलेष सिंह भी देर शाम तक मौजूद रहे। उधर, नाव हादसे में नदी में डूबे छात्र मिजान अहमद के न मिलने पर मंगलवार को एएचएनबी स्कूल बंद कर दिया गया। इससे पूर्व स्कूल में बैठक हुई और चर्चा के बाद उसे बंद कर दिया गया।



Source link

Advertisement
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

POPULAR POST

- Advertisment -