HomeBreaking NewsGonda,notice,samajwadi Party,pradarshan,dharna - सपा के दो पूर्व मंत्रियों समेत 26 लोगों को...

Gonda,notice,samajwadi Party,pradarshan,dharna – सपा के दो पूर्व मंत्रियों समेत 26 लोगों को नोटिस



ख़बर सुनें

गोंडा। पुलिस हिरासत में संविदा लाइनमैन की मौत मामले में सपा नेताओं ने 25 सितंबर को थाने के सामने प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। इसके लिए उपजिला मजिस्ट्रेट तरबगंज से अनुमति मांगी। मगर उपजिला मजिस्ट्रेट ने निषेधाज्ञा का हवाला देते हुए धरना प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा दिया है। उन्होंने सपा के दो पूर्व मंत्रियों समेत 26 लोगों को नोटिस जारी कर 24 सितंबर को व्यक्तिगत रूप से न्यायालय पर तलब किया है। सपा नेताओं से एक लाख का निजी मुचलका व एक-एक लाख की दो जमानत राशि भरना होगा। साथ ही एक साल तक धरना प्रदर्शन भी नहीं कर सकेंगे।
उपजिला मजिस्ट्रेट शत्रुघ्न पाठक ने गुरुवार को बताया कि नवाबगंज में आक्रोशित भीड़ ने मार्ग जाम कर बड़े पैमाने पर हिंसा की थी। सपा नेताओं ने 24 सितंबर तक आरोपी प्रभारी निरीक्षक तेज प्रताप सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी न होने पर 25 सितंबर को दोबारा प्रदर्शन करने की घोषणा की है। बताया कि मौजूदा समय में त्योहारों का सीजन है। इसलिए धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी गई है।
उपजिला मजिस्ट्रेट ने सपा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष आनंद स्वरूप उर्फ पप्पू यादव, पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह, पूर्व मंत्री आनंद सेन यादव, पूर्व विधायक राम विशुन आजाद, बैजनाथ दूबे, नंदिता शुक्ला, पूर्व एमएलसी महफूज खां, रणविजय सिंह, पूर्व विधायक रमेश गौतम, विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी सूरज सिंह, संजय विद्यार्थी, फिरोज खान उर्फ गब्बर, राम भजन चौबे, मस्त राम यादव, दिनेश यादव, राधेश्याम यादव, गंगाराम यादव, दुर्गा प्रसाद यादव, अंकित तिवारी, सुभाष यादव, रमेश यादव, राकेश यादव, रामकरन, यदुनंदन यादव, संतोष यादव तथा श्रीपति यादव को निषेेधाज्ञा का हवाला देते हुए नोटिस जारी करके पाबंद किया गया है।

गोंडा। पुलिस हिरासत में संविदा लाइनमैन की मौत मामले में सपा नेताओं ने 25 सितंबर को थाने के सामने प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। इसके लिए उपजिला मजिस्ट्रेट तरबगंज से अनुमति मांगी। मगर उपजिला मजिस्ट्रेट ने निषेधाज्ञा का हवाला देते हुए धरना प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा दिया है। उन्होंने सपा के दो पूर्व मंत्रियों समेत 26 लोगों को नोटिस जारी कर 24 सितंबर को व्यक्तिगत रूप से न्यायालय पर तलब किया है। सपा नेताओं से एक लाख का निजी मुचलका व एक-एक लाख की दो जमानत राशि भरना होगा। साथ ही एक साल तक धरना प्रदर्शन भी नहीं कर सकेंगे।

उपजिला मजिस्ट्रेट शत्रुघ्न पाठक ने गुरुवार को बताया कि नवाबगंज में आक्रोशित भीड़ ने मार्ग जाम कर बड़े पैमाने पर हिंसा की थी। सपा नेताओं ने 24 सितंबर तक आरोपी प्रभारी निरीक्षक तेज प्रताप सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी न होने पर 25 सितंबर को दोबारा प्रदर्शन करने की घोषणा की है। बताया कि मौजूदा समय में त्योहारों का सीजन है। इसलिए धरना प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी गई है।

उपजिला मजिस्ट्रेट ने सपा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष आनंद स्वरूप उर्फ पप्पू यादव, पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह, पूर्व मंत्री आनंद सेन यादव, पूर्व विधायक राम विशुन आजाद, बैजनाथ दूबे, नंदिता शुक्ला, पूर्व एमएलसी महफूज खां, रणविजय सिंह, पूर्व विधायक रमेश गौतम, विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी सूरज सिंह, संजय विद्यार्थी, फिरोज खान उर्फ गब्बर, राम भजन चौबे, मस्त राम यादव, दिनेश यादव, राधेश्याम यादव, गंगाराम यादव, दुर्गा प्रसाद यादव, अंकित तिवारी, सुभाष यादव, रमेश यादव, राकेश यादव, रामकरन, यदुनंदन यादव, संतोष यादव तथा श्रीपति यादव को निषेेधाज्ञा का हवाला देते हुए नोटिस जारी करके पाबंद किया गया है।



Source link

Advertisement
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

POPULAR POST

- Advertisment -