HomeBarabankiCrime - गायब मिला 25 क्विंटल अनाज, संचालिका पर केस

Crime – गायब मिला 25 क्विंटल अनाज, संचालिका पर केस


ख़बर सुनें

बाराबंकी। कार्डधारकों में न तो अनाज का वितरण किया जा रहा था और न ही अनाज का हस्तांतरण किया जा रहा था। आदेश जारी होते ही समूह की संचालिका दुकान में ताला लगाकर भाग गई थी। इससे वितरण का कार्य नहीं हो पा रहा था। डीएम के आदेश पर गठित टीम ने दुकान का ताला तोड़कर जांच की तो दुकान से 25 क्विंटल अनाज गायब मिला। इस पर डीएम के आदेश के बाद संचालिका के खिलाफ मसौली थाने में केस दर्ज कराया गया है।
मसौली क्षेत्र के सरायं कायस्थान में कोटे की दुकान एकता स्वयं सहायता समूह को संचालित करने के लिए मिली थी। आरोप है कि समूह की संचालिका अनीता देवी न तो अनाज का वितरण कर रही थीं और न ही अनाज का हस्तांतरण ही कर रही थीं।
डीएम के आदेश पर गठित नायब तहसीलदार, पूर्ति निरीक्षक की टीम ने पुलिस बल के साथ गांव पहुंच दुकान का ताला तोड़ा और जांच की तो सत्यापन में 25 क्विंटल गेहूं और चावल कम पाया गया। मौके से बरामद अनाज को पल्हरी के दुकानदार को हस्तांतरित कर कार्रवाई की संस्तुुति करते हुए पूरी रिपोर्ट डीएम को भेजी गई थी।
डीएम से मिली अनुमति के बाद पूर्ति निरीक्षक इमरान मंजूर की तहरीर पर शुक्रवार को समूह संचालिका अनीता के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम तथा आईपीसी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

बाराबंकी। कार्डधारकों में न तो अनाज का वितरण किया जा रहा था और न ही अनाज का हस्तांतरण किया जा रहा था। आदेश जारी होते ही समूह की संचालिका दुकान में ताला लगाकर भाग गई थी। इससे वितरण का कार्य नहीं हो पा रहा था। डीएम के आदेश पर गठित टीम ने दुकान का ताला तोड़कर जांच की तो दुकान से 25 क्विंटल अनाज गायब मिला। इस पर डीएम के आदेश के बाद संचालिका के खिलाफ मसौली थाने में केस दर्ज कराया गया है।

मसौली क्षेत्र के सरायं कायस्थान में कोटे की दुकान एकता स्वयं सहायता समूह को संचालित करने के लिए मिली थी। आरोप है कि समूह की संचालिका अनीता देवी न तो अनाज का वितरण कर रही थीं और न ही अनाज का हस्तांतरण ही कर रही थीं।

डीएम के आदेश पर गठित नायब तहसीलदार, पूर्ति निरीक्षक की टीम ने पुलिस बल के साथ गांव पहुंच दुकान का ताला तोड़ा और जांच की तो सत्यापन में 25 क्विंटल गेहूं और चावल कम पाया गया। मौके से बरामद अनाज को पल्हरी के दुकानदार को हस्तांतरित कर कार्रवाई की संस्तुुति करते हुए पूरी रिपोर्ट डीएम को भेजी गई थी।

डीएम से मिली अनुमति के बाद पूर्ति निरीक्षक इमरान मंजूर की तहरीर पर शुक्रवार को समूह संचालिका अनीता के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम तथा आईपीसी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।



Source link

Advertisement
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

POPULAR POST

- Advertisment -